Special

डीएम साहिबा ने रक्तदान कर बचाई बच्ची की जान

डीएम साहिबा ने रक्तदान कर बचाई बच्ची की जान

डीएम साहिबा ने रक्तदान कर बचाई बच्ची की जान

दरअसल मध्य प्रदेश के अशोकनगर की कलेक्टर औचक निरीक्षण पर निकले
तभी अस्पताल के औचक निरीक्षण में एक रोती बिलखती मां इनके पास पहुंची
और अपनी बच्ची के लिए खून की जरूरत बताते हुए इन से ब्लड डोनेशन की
मांग की डीएम साहिबा ने उसकी बात को तुरंत संज्ञान में लिया और उस डेढ़
साल की बच्ची के लिए रक्तदान किया और मानवता की और जिम्मेदारी की अनोखी मिसाल पेश की यह महज इत्तेफाक था कि जिस वक्त बच्ची को खून की जरूरत थी उमा महेश्वरी वहां मौजूद थी इसी के चलते यह मुमकिन हो पाया और बच्ची की जान बचाई जा सके पूमा महेश्वरी की यह कोशिश है कि किसी भी बच्ची की जान ब्लड की कमी की वजह से ना जाए इसके लिए उन्होंने अस्पताल की कमियों को दूर करने के लिए एक प्लान तैयार किया है उन्होंने कहा है कि अस्पताल की हर कमी को दूर किया जाएगा साफ सफाई का विशेष ध्यान दिया जाएगा उमा महेश्वरी की इस दरियादिली को देखकर सिस्टम पर आम जनता को भरोसा करने का मौका मिलता है अगर सही ढंग से सभी प्रशासनिक अधिकारी काम करें तो जनता की समस्याओं को दूर करना बहुत आसान हो जाएगा और किसी बच्ची को बचाने के लिए डीएम साहिबा को स्वयं ब्लड डोनेट करने की जरूरत नहीं होगी।

Related Articles

Back to top button
Close
Open chat