Breaking NewsentertainmentSpecial

दोस्ती की मिसाल ! प्यारी सी मुस्कान के बीच चमक रहे भारत-पाक के झंडे, पढ़ें पाकिस्तानी क्लासमेट संग दोस्ती की कहानी

दोस्ती की मिसाल ! प्यारी सी मुस्कान के बीच चमक रहे भारत-पाक के झंडे, पढ़ें पाकिस्तानी क्लासमेट संग दोस्ती की कहानी

हमारी जिंदगी में दोस्ती बहुत मायने रखती है. अपने शहर या देश से दूर रह रहे लोग अक्सर अकेले में अपने दोस्तों को ढूंढते हैं. ऐसी ही एक कहानी भारत की एक लिंक्डइन यूजर स्नेहा बिस्वास ने पोस्ट की है. अपनी कहानी में उन्होंने पाकिस्तान की रहने वाली एक महिला के साथ अपनी दोस्ती के बारे में बताया. उन्होंने बताया कि कैसे अमेरिका में अपनी पढ़ाई के दौरान एक पाकिस्तानी लड़की के साथ उनकी दोस्ती हुई. उनके इस पोस्ट को काफी लोगों ने पसंद किया है.

स्नेहा बिस्वास ने अपनी पाकिस्तानी दोस्त के बारे में बताते हुए कहा कि वह भारत के एक छोटे से शहर में पली-बढ़ी. पाकिस्तान के बारे में उनका ज्ञान केवल क्रिकेट, इतिहास की किताबों और मीडिया तक ही सीमित था. उन्होंने बताया कि उनकी दोस्त इस्लामाबाद, पाकिस्तान की रहने वाली हैं. वह उससे पहले दिन हार्वर्ड बिजनेस स्कूल में मिली थी. दोनों को ही एक-दूसरे को पसंद करने में 5 सेकंड का वक्त लगा और पहले सेमेस्टर के अंत तक दोनों कैंपस के सबसे करीबी दोस्तों में से एक हो गए. आगे उन्होंने बताया कि उनकी यह दोस्ती कैसे हुई.

कैसे हुई दोनों की दोस्ती

स्नेहा ने लिखा “कई चायों, बिरयानी, वित्तीय मॉडल और केस स्टडी की तैयारी के दौरान, हम एक-दूसरे को जानें. स्नेहा बिस्वास का स्टार्टअप छात्रों को जलवायु परिवर्तन से लेकर क्रिप्टोकरेंसी तक के विषयों में जानकारी देता है. स्नेहा बिस्वास ने ये भी ​​​​कहा कि वह अपनी दोस्त की महत्वाकांक्षी प्रकृति से काफी प्रेरित थीं. इसके साथ ही उन्होंने एक तस्वीर भी शेयर की, जिसमें उन्हें अपने देशों के झंडे लहराते हुए उनके चेहरे पर बड़ी मुस्कान के साथ दिखाया गया है.

सबसे पहले हम इंसान हैं – स्नेहा

स्नेहा कहती हैं कि किसी और चीज से पहले हम इंसान हैं और हमारी प्रकृति में विभिन्न प्रकार की विशेषता है. यह पूरी तरह से हम पर निर्भर करता है कि हम समाज को क्या दिखाना चाहते हैं. आगे उन्होंने बताया कि “पाकिस्तान जैसे समाज में रहने के बावजूद उनके माता-पिता ने उन्हें और उनकी छोटी बहन को रूढ़ियों को तोड़ने और अपने सपनों को पूरा करने का साहस दिया. उनकी निडर महत्वाकांक्षाओं और साहस के साथ विकल्पों पर काम करने की कहानियों ने मुझे प्रेरित किया”.

स्नेहा के इस पोस्ट को अब तक 46,142 लोग लाइक कर चुके हैं. वहीं, 1,854 लोगों ने इसपर कमेंट किया है और 404 लोगों ने इसे शेयर किया है. लोग इसे का काफी पसंद कर रहे हैं.

Related Articles

Back to top button
Bharat AtoZ News
Close